Rated 4.7/5 based on 107
Awesome Book - by , @book.updated_at
5/ 5stars
This is an awesome book, we should definitely buy it.
Shabdon Mein Rahti Hai Vah

Book Specification

Binding Paperback
Language Hindi
Number Of Pages
Author Pushpita Awasthi
Publisher
Isbn-10 938323329X
Isbn-13 9789383233298
Dimension 0.0*0.0*0.0

Shabdon Mein Rahti Hai Vah

Pushpita Awasthi's Shabdon Mein Rahti Hai Vah

वेद ने प्रकृति को देवता का काव्य कहा है--पश्य देवस्य काव्यम्। इस काव्य के प्रति सबसे ज्यादा लगाव कवियों में होता है। पुष्पिता के इस काव्य-परिसर में अनेक देशों, द्वीपों, पहाड़ों, नदियों, महासागरों, आदिवासी जातियों की स्मृति है जिसमें कैरेबियाई द्वीप, आस्ट्रिया का नाउदर गांव, रोम के भव्य भवन, आल्प्स की कोमो झील, सेंटलूशिया, अटलांटिक और हिंद महासागर तथा जाने क्या-क्या एक साथ उपस्थित है। पुष्पिता के मन में भारत की याद भी साथ-साथ चलती है जैसे नाउदर की गायों को देखकर मथुरा, वृंदावन, गोप, गोपी और श्रीकृष्ण की याद या लांगडाईक की नहरों को देखकर बनारस की गलियों की या भारतीय पर्वों, त्योहारों और तिथियों की याद। उसकी व्यापक संवेदनशीलता उसे अनंतरूपात्मक जगत से जोड़े हुए है। इसीलिए वह विश्वव्यापी हिंसा के विरुद्ध है। स्त्रिायां और बच्चे पुष्पिता के खास सरोकार हैं। कवयित्री होने के नाते स्वाभाविक भी है कि वह सैनिकों की गर्भस्थ स्त्रियों की व्यथा तथा अजन्मे शिशुओं के प्रति मां के विछोह और वात्सल्य के मर्म को अधिक तीव्रता से महसूस कर सके। एक ओर स्त्री को नाखून की तरह कुतरते और जोंक की तरह चूसते पुरुष का क्रूर बिंब उसके मन में है तो दूसरी ओर देह ढलने के बाद स्वयं ही अपना ताबूत बनती स्त्री का मार्मिक चित्रा भी। लेकिन इसके साथ ही उसकी प्रेम संबंधी कविताओं में देह का सुगंधित स्वाद और उसका बखान भी है। समय की अपराजेयता में विश्वास करते हुए भी पुष्पिता शब्द की अमरता में भरोसा रखती हैं, जो कभी मरते नहीं, जो मनुष्य की अस्मिता को बचाए रखते हैं। कहना न होगा कि यही कवि में कविता को भी जिंदा रखते हैं। विश्वास है, काव्यप्रेमी इस संग्रह की कविताओं का स्वागत करेंगे।
Store Price Buy Now
Amazon, Paperback Rs. 270.0

Why you should read Shabdon Mein Rahti Hai Vah by Pushpita Awasthi

This book has been written by Pushpita Awasthi, who has written books like BHARATVANSHI BHASHA EVAM SANSKRITI,Shabdon Mein Rahti Hai Vah. The books are written in Books category. This book is read by people who are interested in reading books in category : Books. So, if you want to explore books similar to This book, you must read and buy this book.

Other books by same author

Book Binding Language
BHARATVANSHI BHASHA EVAM SANSKRITI Hardcover Hindi
Shabdon Mein Rahti Hai Vah Paperback Hindi

Searches in World for Shabdon Mein Rahti Hai Vah

City Country Count
36
Top Read Books

Top Reads